रक्सौल रेलवे स्टेशन रोड की स्थिति नारकीय,शीघ्र निर्माण की मांग

36533251_1953871401289672_3433488502434562048_nरक्सौल रेलवे स्टेशन रोड की स्थित बरसात के कारण नारकीय हो गयी है।जिससे नेपाल व आसपास के इलाकों से आने वाले रेल यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जिसको लेकर प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, रेलवे मंत्रालय, पथ निर्माण विभाग और नगर विकास विभाग को अवगत कराते हुए इसके शीघ्र निर्माण कराये जाने की मांग की गयी है। इसकी जानकारी डॉ स्वम्भू शलभ ने दी है।आवेदन के माध्यम से बताया गया है कि भारत नेपाल सीमा स्थित रक्सौल का सबसे महत्वपूर्व रोड… स्टेशन रोड…जो मुख्य मार्ग को रक्सौल स्टेशन से जोड़ता है… दशकों से जर्जर अवस्था में है जिसकी तरफ न तो रेलवे की नजर जाती है न सड़क विभाग की। एनएचएआई कहती है कि केवल पीपराकोठी से आईसीपी तक की सड़क ही उसके क्षेत्राधिकार में आता है। वहीं रेलवे ने जब भी इस सड़क का काम कराया कामचलाऊ स्तर का ही कराया। नतीजा सामने है। इस सड़क की नारकीय स्थिति अंतरराष्ट्रीय महत्व के इस शहर का दर्द बयान कर रही है। सड़क के गढ्ढों में वाहन पलट रहे हैं। दुर्घटना हो रही है। लेकिन इसकी सुध लेनेवाला कोई नहीं है। स्टेशन आनेजाने के लिए यात्री शहर के दूसरे वैकल्पिक रास्तों को तलाशते नजर आते हैं।खुले हुए नाले में बजबजाती गंदगी… सड़क पर पसरा कीचड़ और कूड़ा कचरा…अंदाजा लगाना मुश्किल कि गढ्ढा कहां है और सड़क कहां….उसी गलीज में रेंगते वाहन और साँस रोके ट्रेन पकड़ने के लिए दौड़ते भागते यात्री। यही नजारा है नेपाल के मुख्य द्वार पर बसे इस स्टेशन रोड का।जब कि यह सड़क ए ग्रेड का दर्जा प्राप्त रक्सौल रेलवे स्टेशन समेत देश की नवरत्न कंपनियों में शामिल इंडियन आयल डिपो से जुड़ी है लेकिन आज तक इसकी दशा को सुधारा नहीं जा सका।नेपाल से भारत आने वाले पर्यटक यहीं पहली बार भारत दर्शन करते हैं। वे यहां की कैसी छवि अपने जेहन में लेकर जाते होंगे…यह भी चिंता और शर्मिंदगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>