डंकन अस्पताल पर लगा बच्चा बदलने का आरोप 

569#रक्सौल_डेली :शहर के डंकन अस्पताल स्थित प्रसूतिगृह से बच्चे के हेरफेर का मामला समाने आया है .इस आशय से सम्बंधित एक ज्ञापन बहुअरवा सगौली निवासी लाडली परवीन के परिजन नुरुलहोदा ने डंकन अस्पताल प्रशासन पर बच्चे के अदलाबदली करने का आरोप लगाते हुए हरैया थाना मे आवेदन दिया है .उधर इस घटना के बाद डंकन अस्पताल की ओर से मिस्टर माइकल ने बताया मामले की जांच की जा रही है . व सीसीटीवी फुटेज खंगाला जा रहा है .हालांकि उन्होंने ये भी साफ़ किया है कि इस तरह का धंधा किसी भी लोभ लालच मे पड़ कर नहीं किया जा सकता है .पर कभी कभी मानवीय भूल के कारण इस तरह की घटना हो जाती है .इसकी छानबीन की जा रही है .जानकारी के अनुसार 15 जुलाई की रात को पूर्वी चंपारण के सूगौली के बहुअर्वा निवासी बदरुल होदा की पत्नी लालड़ी परवीन को भर्ती कराया गया।इसके बाद 16 जुलाई को लाडली ने संतान को जन्म दिया . जब परिजन डिस्चार्ज कराने के लिए कागजात जमा कर दिए. तो उन्हें मंगलवार की सन्ध्या करीब 5 बजे नवजात को सौंप दिया गया.इस बीच नवजात को शौच हुआ.जब हगीज बदला गया तो वह नवजात लड़की थी .जबकि हॉस्पिटल ने जन्म के बाद लड़का होने का प्रमाण पत्र प्रदान किया गया था.जो परिजनों के पास सुरक्षित था. उधर इस घटना की जानकारी होते ही जनाधिकार पार्टी के नगर अध्यक्ष उमंग कुमार के नेतृत्व मे परिजनों ने अस्पताल मे हो हंगामा व प्रदर्शन करने पर अस्पताल ने बच्चे को दिया .उनका दावा है कि यह बच्चा हमारा नहीं है .जब तक हम बच्चे का डीएनए टेस्ट न करा ले हम संतुस्ट नहीं हो सकते .उधर डंकन अस्पताल ने बताया है कि बच्चे के जन्म के बाद उसके पैर व हाथ का प्रिंट लिया जाता है .हमें कोई आपति नहीं है बच्चे के परिजन डीएनए टेस्ट करा सकते है .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>