क्लिंकर व रेल ट्रैक के दोहरीकरण को लेकर बैठक

569क्लिंकर को रक्सौल के बदले बीरगंज नेपाल को सीधे उतरने के संबंध में सोमवार को स्थानीय सांसद संजय जायसवाल के साथ कान्कार (CONCOR)के चेयरमैन सह प्रबंध निर्देशक सी कल्याण रामा एवं चीफ आपरेटिंग मैनेजर सलिल झा के साथ बैठक आयोजित की गयी जायसवाल ने बताया  कि डर्टी कार्गो अब सीधे नेपाल जायेगा,उसे अंजाम देने के लिए तीन फेजों में बांटा गया है,पहले फेज में आई सी डी,बीरगंज जायेगा,दूसरे में रक्सौल से सटे नो मैनस लैंड के 10 एकड़  पर 6 माह में सेड तैयार किया जायेगा जहाँ कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा,और अंत में अमलेसगंज में ही स्थायी रूप से स्थानांतरित करने की योजना है। इसके लिए नेपाल सरकार से  वार्ता कर  जमीन उपलब्ध कराने के लिए कहा जायेगा। सांसद डॉ जायसवाल ने कहा कि आज की बैठक बीरगंज में इसके लिए ही आयोजित है। स्थानीय दूतावास में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में रामा ने कहा कि जिस रैक की बुकिंग 22 के पहले हो चुकी है वह रक्सौल ही आयेगा और बीरगंज की वयवस्था के लिए हम नेपाल जा रहे हैं।  यह व्यवसायिक प्रकरण है। सांसद डॉ जायसवाल ने श्री सलिल झा से रेल  गुमटी के 16 घंटे बंद को कम करने के लिए प्रयास करने हेतु उपाय करने को कहा।श्री झा ने आश्वासन दिया कि हम इस पर गंभीरता से विचार करेंगे। सांसद ने बताया कि रक्सौल से सुगौली तक  रेल लाइन के दोहरीकरण का निर्णय कर लिया गया है और जनवरी में उसका  टेंडर जारी होगा। मुजफ्फरपुर से गोरखपुर तक दोहरीकरण का निर्णय पहले ही ले  लिया गया था,रक्सौल से सुगौली तक का निर्णय कराया है।विद्युतिकरण का निर्णय पर  कार्य तेजी से जारी है। सांसद प्रतिनिधि प्रोफेसर डा0 अनिल कुमार सिन्हा,राजकिशोर राय भगत,गुडडू सिंह,ई0जितेन्द्र कुमार,प्रो. मनिष दूबे,समसुददीन आलम,मनोज शर्मा ,उदय  सिंह,पप्पू गुप्ता,कन्हैया सर्राफ,सामंत जोशी उपस्थित थे .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>